Saturday, March 25, 2023

शिकायतों का समय से गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करें: जिलाधिकारी उमेश मिश्रा

Must read

भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव के शहादत दिवस पर निकाला कैंडल मार्च

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर  बिनौली: जिवाना गुलियान में शहीद दिवस पर नीरज सोलंकी व गांव के समस्त नौजवान साथियों ने कैंडल मार्च निकाला तथा सदैव...

चंदायन मंदिर में एसपी ने की पूजा अर्चना

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर  बिनौली: चंदायन गांव के प्राचीन सिद्धपीठ दुर्गा मंदिर परिसर में चल रहे नौ दिवसीय मेले का जायजा लेने एसपी अर्पित विजयवर्गीय...

द्वितीय दिन माँ आद्यशक्ति श्री चंडी जी की निकली पालकी यात्रा, हुई पुष्प वर्षा

हापुड़। नवरात्र के द्वितीय दिन माँ आद्यशक्ति श्री चंडी जी की पालकी यात्रा श्री चंडी धाम से प्रारंभ होकर इंद्रलोक कालोनी, टैगोर शिक्षा सदन...

भगत सिंह के विचार व्यक्तित्व से प्रेरणा ले युवा: बलजीत सिंह आर्य

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर बागपत: गुरुवार को गुरुकुल इंटरनेशनल स्कूल जीवाना में शहीद दिवस के उपलक्ष में शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। श्रद्धांजलि सभा में...

नजीबाबाद/ बिजनौर: जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि शिकायतों का निस्तारण पूर्ण मानक एवं गुणवत्ता के आधार पर करें और शिकायत की स्थलीय जांच पर जाने से पूर्व शिकायतकर्ता को अपने आने के समय और स्थान की जानकारी दें ताकि वह वहां उपस्थित होकर जांच में सहयोग करे। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि यदि किसी कारण शिकायत का निस्तारण होना सम्भव न हो सके तो शिकायतकर्ता को उसके अनिस्तारित होने के कारणों की स्पष्ट जानकारी उपलब्ध करायें ताकि वह उसी शिकायत को पुनः प्रस्तुत न कर सके। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि समय-समय पर गौशालाओं का निरीक्षण करते रहे और उनके चारे पानी की व्यवस्था तथा मेंटेन पंजिका को भी गहनता के साथ देखें।
जिलाधिकारी उमेश मिश्रा आज नजीबाबाद तहसील के डबाकरा हॉल में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने निर्देश दिया कि जिन जमीनों पर अवैध कब्जा है उनको चिन्हित कर उन्हें अवैध कब्जे से मुक्त कराने की कार्यवाही अमल में लाएं।
उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियेां को निर्देश दिये कि शिकायतकर्ता द्वारा अपनी शिकायत दुबारा प्रस्तुत करने का सीधा अर्थ है कि उसकी शिकायत को गम्भीरतापूर्वक सुना नहीं गया या उसका गुणवत्तापूर्वक निस्तारण नहीं किया गया है। उन्होंने सभी अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि विभागीय जन शिकायतों का पूर्ण गुणवत्ता और मानक के अनुरूप निस्तारण करना सुनिश्चित करें और प्रयास करें कि मौके पर जा कर शिकायतकर्ता से सम्पर्क कर स्थानीय लोगों से भी वार्ता करें ताकि शिकायत की सत्यता प्रमाणित होने के साथ-साथ उसका निस्तारण भी गुणवत्तापरक होना सम्भव हो सके। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा आयोजित होने वाले जनता दर्शन के दौरान यदि इस प्रकार का कोई मामला संज्ञान में आता है कि शिकायतकर्ता को अधिकारी उपलब्ध नहीं मिला अथवा उसकी शिकायत को गंभीरतापूर्वक नहीं सुना गया तो संबंधित अधिकारी के विरूद्व विभागीय कार्यवाही करते हुए शासन को लिखा जाएगा। उन्होंने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि आगामी तहसील दिवस से सरकार द्वारा संचालित की जा रही विभागीय जनकल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जन सामान्य को जानकारी उपलब्ध कराते हुए जन सामान्य को प्रेरित करना सुनिश्चित करेंगे ताकि सरकार की योजनाओं का लाभ पूर्ण रूप से जनसामान्य को मिल सके। उन्होंने कहा कि शासन की स्पष्ट मंशा है कि प्रदेश के नागरिकों को शासकीय योजनाओं एवं विकास कार्याे का लाभ पहुंचे और कोई भी पात्र व्यक्ति जन कल्याणकारी योजनाओं के फायदे से महरूम न रहे। उन्होने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी प्राप्त शिकायतों को पूर्ण गुणवत्ता और मानक के साथ निस्तारित करना सुनिश्चित करे।
सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 43 शिकायतें दर्ज हुयीं, जिनमें से 9 शिकायतों का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया। संपूर्ण समाधान दिवस में 11 शिकायतें राजस्व विभाग की 13 पुलिस विभाग की व 19 अन्य विभागों की प्राप्त हुई।
तहसील दिवस के अवसर पर पुलिस अधिक्षक धर्मवीर सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी, उप जिलाधिकारी नजीबाबाद, जिला विकास अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी एवं क्षेत्राधिकारी पुलिस नजीबाबाद, बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला विधालय निरीक्षक, जिला गन्ना अधिकारी, जिला आबकारी अधिकारी, जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी, मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी के अलावा सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

Latest News