Wednesday, March 29, 2023

विवेक कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट के विद्यार्थियों द्वारा पतंजलि का औद्योगिक भ्रमण

Must read

किसानों को सुविधाएं मुहैय्या कराने के लिए सरकार कटिबद्ध: सोमेंद्र तोमर

ऊर्जा राज्य मंत्री ने चंदायन के दुर्गा मंदिर में पहुंचकर की पूजा अर्चना ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर बिनौली: चंदायन स्थित प्राचीन सिद्धपीठ दुर्गा मंदिर में...

चंदायन मंदिर में श्रद्धालुओं ने प्रसाद चढ़ाकर मांगी मन्नते

ऊर्जा राज्य मंत्री डा.सोमेंद्र तोमर बुधवार को पहुचेंगे ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर बिनौली: चैत्र नवरात्र के उपलक्ष्य में चंदायन गांव के मां दुर्गा देवी मंदिर...

खिलाड़ियों को किया गया पुरस्कृत

ब्यूरो चीफ, विकास बड़ग़ुर्जर बड़ौत: नगर की गुड़ मंडी स्थित शहीद भगत सिंह कबड्डी एकेडमी में जिला खेल सम्मान समारोह एव हवन कार्यक्रम का आयोजन...

घाट पर हाट (श्री अन्न मेले) मिलेट्स मेले का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ

मोटे अनाजों का सेवन करने के लिए लोगों को किया गया जागरूक श्री अन्न अपनाएं शरीर को मजबूत बनाएं कुकिंग प्रतियोगिता का किया गया...

बिजनौर। विवेक कॉलेज बिजनौर के मैनेजमेंट विभाग के विद्यार्थियों ने शैक्षिक भ्रमण के अन्तर्गत “पंतजलि फूड एंड हर्बल पार्क” हरिद्वार का भ्रमण किया।
पतंजलि पार्क के हेड.एच.आर. एण्ड एडमिनिस्ट्रेशन मनमोहन सिंह राठौड़, विजिटर गाइड संदीप एवं कुलदीप के द्वारा छात्र-छात्राओं को महत्वपूर्ण जानकारियाॅं दी गयी। उनके द्वारा छात्रो को प्लांट भ्रमण के दौरान विभिन्न उत्पादन तकनीकों एवं प्लांट के प्रबंधन से सबंधित जानकारिया दी गयी। उन्होंने बताया कि “पंतजलि फूड एंड हर्बल पार्क” अब तक दुनिया का सबसे बड़ा फूड पार्क है यह फूड पार्क लगभग 400 एकड में फैला हुआ है तथा यह पांच खण्डों में विभाजित है। यह भारत सरकार के फूड और प्रोसैसिंग मंत्रालय के मेगा फूड पार्क स्कीम के अंतर्गत आता है और बताया कि फूड पार्क 850 से ज्यादा फूड ब्रांडस का 1500 टन से ज्यादा हर्बल उत्पादों का उत्पादन करता हैं। विद्यार्थियों ने जूस, काॅसमेटिक, पैकेजिंग, अगरबत्ती एवं धूप आदि प्लांट का भ्रमण किया। विजिट का समापन प्रश्नकाल के बाद हुआ जिसमें पार्क के प्रबंधको से छात्र-छात्राओं ने प्रबंधन एवं उत्पादन से सबंधित प्रश्न पूछे।
महाविद्यालय के अध्यक्ष अमित गोयल ने बताया कि महाविद्यालय का उद्देश्य विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ-साथ औद्योगिक भ्रमणों के द्वारा व्यवहारिक ज्ञान भी उपलब्ध कराना है। महाविद्यालय के सचिव दीपक मित्तल ने कहा कि सभी विद्यार्थियों का दायित्व है कि महाविद्यालय द्वारा आयोजित शैक्षिक एवं औद्योगिक भ्रमण का पूरा लाभ उठाये और बिजनेस की बारीकियों को समझे। निदेशक अनिल कुमार शर्मा ने कहा कि औद्योगिक भ्रमण प्रोफेशनल कोर्सेस के पाठ्यक्रम का हिस्सा है। इनसे विद्यार्थियों को रोजगार परक जानकारी मिलती हैं। सर्वेश कुमार शीतल ने छात्रो को औद्योगिक भ्रमण के उद्देश्यों से अवगत कराते हुए बताया कि इस तरह के भ्रमण से विद्यार्थियों को कम्पनियों की कार्यशैली के बारे में पता चलता हैै जिससे उनके सैद्धांतिक एवं व्यवहारिक ज्ञान में वृद्धि होती हैं।
औद्योगिक भ्रमण को सफल बनाने में ट्रेनिंग प्लेसमेंट आफिसर निष्ठा धीमान, असिस्टेंट प्रोफेसर हरजीत सिंह, विपुल अग्रवाल,कोमल सिंह एवं रितु चौहान का सहयोग रहा।

Latest News