Friday, March 31, 2023

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस का हुआ आयोजन

Must read

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अन्तर्गत ब्लॉक परिसर में हुआ 18 जोड़ो का विवाह

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर बिनौली: विकास खंड स्तरीय सामूहिक विवाह का आयोजन बिनौली ब्लॉक परिसर में हुआ। जिसमें 18 जोड़े विवाह बंधन में बंधे। बीडीओ...

घाट पर हाट कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले प्रतियोगियों को राज्यमंत्री ने प्रमाण पत्र देकर किया सम्मानित

यमुना नदी पर राज्यमंत्री ने दीपोत्सव व गंगा/यमुना आरती की बागपत: गंगा/यमुना स्वच्छता पखवाड़ा 2023 के अंतर्गत घाट पर हाट दो दिवसीय कार्यक्रम के...

संसद की तर्ज पर आयोजित हुई पड़ोस युवा संसद में युवाओं को किया जागरूक

पड़ोस युवा संसद में युवाओं ने जमकर पूछे सवाल, जिलाधिकारी ने सराहा कुछ करने के लिए कठोर परिश्रम, लगन और हौसला है तो...

किसानों को सुविधाएं मुहैय्या कराने के लिए सरकार कटिबद्ध: सोमेंद्र तोमर

ऊर्जा राज्य मंत्री ने चंदायन के दुर्गा मंदिर में पहुंचकर की पूजा अर्चना ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर बिनौली: चंदायन स्थित प्राचीन सिद्धपीठ दुर्गा मंदिर में...
  • जनपद में 613गर्भवतियों की नि:शुल्क जांच की गयी 46 उच्च जोखिम अवस्था वाली महिलाएं मिली
  • स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी चिकित्सा इकाइयों पर परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने पर दिया गया ज़ोर 

कासगंज: जिले में मंगलवार को सभी स्वास्थ्य इकाइयों में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान चलाया गया। अभियान के दिन 613 गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच की गई और 46 उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को भी जागरुक किया गया। साथ ही लक्ष्य दंपत्ति को परिवार नियोजन साधनों को उपलब्ध कराए गए और उनकी काउंसलिंग भी हुई।
नेशनल हेल्थ मिशन के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.एसपी सिंह ने बताया कि मंगलवार को शहरी और ग्रामीण स्वास्थ्य इकाइयों पर प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस मनाया गया। जिसमें गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउंड सहित,यूरिन,हीमोग्लोविन,शुगर,सिफलिस,वजन,ब्लड प्रेशर,ब्लड ग्रुप और एचआईवी और कोविड-19 की जाँच की गई और उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं का चिन्हांकन किया गया।
फैमिली प्लानिंग स्पेशलिस्ट राज तोमर ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान लक्ष्य दंपत्ति को बास्केट ऑफ च्वॉइस की सहायता से परिवार नियोजन साधन अपनाने के लिए प्रेरित किया गया।
डीपीएम पवन कुमार ने बताया कि जनपद में फर्स्ट तिमाही एवं तृतीय तिमाही गर्भवती महिलाओं की प्रसवपूर्व जांच यूरिन, हीमोग्लोविन, शुगर, सिफलिस, वजन, ब्लड प्रेशर, ब्लड ग्रुप और एचआईवी और कोविड -19 की जाँच की गई।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अशोकनगर अधीक्षक डा.आकाश सिंह ने गर्भवतीयों को फल वितरित किए। महिला चिकित्सक डा.मारुती माहेश्वरी ने बताया कि पीएमएसएमए के तहत हुए एचआरपी-डे पर 54 गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया। 3 उच्च जोखिम अवस्था वाली गर्भवती मिली। उन्होंने बताया कि सभी महिलाओं की एचआईवी सहित सिफलिस,ब्लड इत्यादि की जांच की गई।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डा.प्रियम ने बताया कि कोरोना काल में गर्भवती को अपना खास ख्याल रखने की जरूरत है,क्योंकि गर्भावस्था के दौरान आम दिनों की अपेक्षा रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। इसलिए कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए घर पर रहकर अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखें। खाने पीने का विशेष ध्यान दें,व्यायाम करें और डॉक्टर से संपर्क करती रहे। समय-समय पर अपनी जांच कराती रहे। गर्भवती को कोरोना से डरने की नहीं बल्कि लड़ने की जरूरत है। कार्यक्रम के दौरान,चिकित्साअधीक्षक डा.आकाश सिंह व फैमिली प्लानिंग स्पेशलिस्ट राज तोमर, डा.प्रियम,परिवार नियोजन कॉउंसलर पूनम सक्सेना,बीपीएम सुनील कुमार आदि मौजूद रहे |

Latest News