Monday, March 20, 2023

कठिन समय में पड़ोसियों की मदद भारत की प्राथमिकता: विदेश मंत्री जयशंकर

Must read

मोबाइल की लत बच्चों के लिए नुकसानदायक इसीलिए अभिभावक दे ध्यान, जाने उनकी दिनचर्या : सुशील वत्स

कोरोना ने हमारी जिंदगी को बदल दिया यह कहना तार्किक होगा। एक बड़ा बदलाव पूरी दुनिया में देखने को मिला। लोगों ने एक दूसरे...

रामनिवास सभापति व सुदेश देवी उपसभापति बने

बिनौली कृषक सेवा सहकारी समिति पदधिकारियों का चुनाव बिनौली: कृषक सेवा सहकारी समिति बिनौली के पदाधिकारियों के रविवार को हुए चुनाव में सभापति पद...

स्काउट-गाइड़ कार्यक्रम का समापन समारोह आयोजित

मेरठ। पं. दीनदयाल उपाध्याय मैनेजमेंट कॉलेज के बी.एड़. विभाग में गत एक सप्ताह से चल रहे स्काउट-गाइड़ कार्यक्रम के समापन समारोह का आयोजन किया...

बिजवाड़ा से रणवीर बने संचालक

विकास बड़गुर्जर, ब्यूरो चीफ बिनौली: कृषक सेवा सहकारी समिति बिनौली के संचालक मंडल का चुनाव शनिवार को कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच शांति पूर्वक संपन्न...

नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने बुधवार को कहा कि ‘पड़ोसी प्रथम’ के सिद्धांत पर काम करने वाले भारत के लिए यह समय पड़ोसियों की समस्याओं को समझने और उन्हें मदद करने का है। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये ‘एशिया आर्थिक संवाद’ को संबोधित करते हुए उन्होंने कोविड-19 महामारी से निपटने में भारत सरकार के प्रयासों का जिक्र किया और कहा कि देश के 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दिया गया।
जयशंकर ने कहा,’हम 40 करोड़ लोगों के खातों में पैसे डाल रहे हैं। यह सब बगैर लीकेज के एक ऐसे देश में हो रहा है, जो लीकेज के लिए एक समय बदनाम रहा था।’ सत्र में श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्री डा.केहेलिया रामबुकवेला व भूटान के वित्त मंत्री लयोनपो नामगे शेरिंग ने भी हिस्सा लिया। जयशंकर ने कहा कि भारत अब अफगानिस्तान व म्यांमार को कोविड वैक्सीन की आपूर्ति कर रहा है। श्रीलंका के समक्ष भुगतान संतुलन की समस्या आ गई है और उसे ईंधन व आवश्यक वस्तुओं की नियमित आपूर्ति की जरूरत है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि भारत, श्रीलंका का एक विश्वसनीय मित्र है।

Latest News