Saturday, March 25, 2023

इस्लाम छोड़ हिंदू धर्म अपनाने वाले त्यागी और साध्वी को पेशी का नोटिस, धर्म संसद में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का आरोप

Must read

भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव के शहादत दिवस पर निकाला कैंडल मार्च

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर  बिनौली: जिवाना गुलियान में शहीद दिवस पर नीरज सोलंकी व गांव के समस्त नौजवान साथियों ने कैंडल मार्च निकाला तथा सदैव...

चंदायन मंदिर में एसपी ने की पूजा अर्चना

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर  बिनौली: चंदायन गांव के प्राचीन सिद्धपीठ दुर्गा मंदिर परिसर में चल रहे नौ दिवसीय मेले का जायजा लेने एसपी अर्पित विजयवर्गीय...

द्वितीय दिन माँ आद्यशक्ति श्री चंडी जी की निकली पालकी यात्रा, हुई पुष्प वर्षा

हापुड़। नवरात्र के द्वितीय दिन माँ आद्यशक्ति श्री चंडी जी की पालकी यात्रा श्री चंडी धाम से प्रारंभ होकर इंद्रलोक कालोनी, टैगोर शिक्षा सदन...

भगत सिंह के विचार व्यक्तित्व से प्रेरणा ले युवा: बलजीत सिंह आर्य

ब्यूरो चीफ, विकास बड़गुर्जर बागपत: गुरुवार को गुरुकुल इंटरनेशनल स्कूल जीवाना में शहीद दिवस के उपलक्ष में शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। श्रद्धांजलि सभा में...
  • उत्तराखंड पुलिस ने जितेंद्र नारायण त्यागी और साध्वी अन्नपूर्णा को पेशी का नोटिस भेजा है। इन पर हाल ही में हरिद्वार में आयोजित एक धर्म संसद में कथित रूप से मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का आरोप है।

हरिद्वार : उत्तराखंड पुलिस ने जितेंद्र नारायण त्यागी और साध्वी अन्नपूर्णा को पेशी का नोटिस भेजा है। इन पर हाल ही में हरिद्वार में आयोजित एक धर्म संसद में कथित रूप से मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। जितेंद्र नारायण त्यागी को पहले उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी के नाम से जाना जाता था। रिजवी ने हिंदू धर्म अपनाने के बाद अपना नाम बदल लिया था।
हरिद्वार पुलिस स्टेशन के एसएचओ राकेन्दर सिंह कठैत ने बुधवार को कहा कि हमने अब तक रिजवी और साध्वी अन्नपूर्णा को पेशी का नोटिस भेजा है। धर्मदास को भी नोटिस भेजा जा सकता है, जो इस सिलसिले में दर्ज प्राथमिकी में तीसरे नामजद हैं।
…क्या मामले में काउंटर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी?
इस बीच, धर्म संसद के आयोजकों द्वारा गठित एक कोर कमेटी के सदस्यों ने मंगलवार को पुलिस को अर्जी देकर एक अज्ञात ‘मौलाना’ के खिलाफ काउंटर प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की, जिसमें उन पर उनके खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाया गया था। यह पूछे जाने पर कि क्या मामले में काउंटर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी, अफसर ने कहा कि सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि जांच कैसे आगे बढ़ती है। उन्होंने कहा कि हम आयोजकों द्वारा गठित कोर कमेटी की ओर से दिए गए आवेदन पर गौर कर रहे हैं, और अगर जरूरी हुआ तो प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।
जांच कर होगी उचित कार्रवाई
कठैत ने कहा कि पुलिस को जिम्मेदारी से जांच करनी होगी, क्योंकि वह भी कोर्ट के प्रति जवाबदेह है। उन्होंने कहा कि हम केवल आरोपों के आधार पर किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकते और किसी को दंडित नहीं कर सकते। आरोपों की जांच की जाएगी और उचित कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि 16 से 19 दिसंबर तक आयोजित धर्म संसद में प्रतिभागियों द्वारा भड़काऊ भाषण दिए गए थे।

 

Latest News